Uttarakhand: पिथौरागढ़ में तेंदुए ने अपने शावकों को सुनसान इमारत में छोड़ा, लोगों में दहशत

Share This Story

पिथौरागढ़: पिथौरागढ़ के निकट सिलपाटा गांव में एक सुनसान इमारत में एक तेंदुए ने अपने तीन शावकों को छोड़ दिया जिससे स्थानीय निवासियों में दहशत फैल गई . रेंज ऑफिसर (पिथौरागढ़ वन प्रभाग) दिनेश जोशी ने यहां बताया कि शावकों को सबसे पहले एक स्थानीय महिला गीता देवी ने देखा जो सोमवार सुबह इमारत में रखा अपने पशुओं का चारा लेने वहां गयी .

उन्होंने बताया कि मादा तेंदुए के आसपास छिपे होने की आशंका को देखते हुए गीता देवी इमारत से बाहर भागी और गांव वालों को सूचित किया जिन्होंने वन विभाग के दल को बुलाया . अधिकारी ने बताया कि जिस सुनसान इमारत में बच्चों का जन्म हुआ है, वह सिलपाटा वन पंचायत के पास स्थित है . उन्होंने कहा कि यह इमारत बहुत लंबे समय से खाली पड़ी है और इसे सुरक्षित मानते हुए ही संभवत: मादा तेंदुए ने वहां शावकों को जन्म दिया होगा .’’

उन्होंने बताया कि हाल के वर्षों में यह इस तरह की दूसरी घटना है जिसमें एक तेंदुए ने आबादी वाले क्षेत्र के पास अपने शावकों को जन्म दिया है. सन् 2017 में भी एक तेंदुए ने रेंज कार्यालय के पास तीन शावकों को जन्म दिया था . वन अधिकारी ने कहा कि मादा तेंदुआ अपने शावकों को देखने आ सकती है और इस संभावना के मददेनजर इमारत को चारों तरफ से घेर लिया गया है जिससे ग्रामीणों को उसके अचानक हमले से बचाया जा सके . जोशी ने कहा, ‘‘ बिल्ली प्रजाति के परिवार में अपने शावकों को सुरक्षित रखने के लिए एक जगह से दूसरी जगह स्थानांतरित करने की प्रवृत्ति होती है . हम तेंदुए के अपने शावकों को लिए लौटने की प्रतीक्षा कर रहे हैं . सोर्स- भाषा

Join Channels

Share This Story

UPSE Coaching

Recent Post

Vote Here

What does "money" mean to you?
  • Add your answer